करुणा सिंह कल्पना

रुत आ गयी

पवन छेड़ रही है गीत,
अब आ भी जा मेरे मीत

तेरे मेरे मिलन की अब आ गयी है बेला
खत्म हो गई अब जुदाई की बेला
आ अब लौट चले फिर से उसी पहलू में,
जहाँ गीत संगीत छेड़ रही है शीतल पवन,
पांव पसारे दस्तक दे रही है मौसम अलबेला,
तन्हाई की बाहों को छोड़ ,आजा दुपहरी बेला,
देखो ,पवन के संग रिमझिम धुन दे रही है सावन,
इस पावन बेला में ,हम तुम शिव को जल चढ़ायेगें,
अपनी श्रद्धा से ,हृदय की मिलन गीत गाएंगे,
आओ हम तुम ,मिल कर रस्में वादे निभाएंगे,
ले आशीर्वाद ,अपना प्यारा सा घर बसायेंगे,
देखो, बुला रही है पवन,सुर लिए है गगन,
तुम्हें जो गीत पसन्द है ,उसे ताल दे रही है सजन
धरा सजी है हरे रंगों में ,तुम्हारे पसन्द में वो रंगी है उमंगों में ।
सुर सरगम ताल मृदंग,पवन झील झरने ,सभी छेड़े हैं ,गीत शबनमी, कब से सोलह शृंगार किये बैठी है मृगनयनी।
अब आ भी जाओ सजन ।

https://youtu.be/8wl9E60uVhM

करुणा सिंह कल्पना
रांची झारखंड।
कहीं दूर
चल ऐ मन कहीं दूर चलते हैं,
इस शहर से दूर ,भीड़ से अलग कहीं,
जहाँ आसमां धरा से मिलती हो वहीं चलते हैं,
पर्वत झरने मिलन के गीत गाते ,लतायें झूमती हो,
झील में चाँद चाँदनी संग ,जहाँ अटखेलियाँ करती हो,
तारें भी सभी ताक झांक कर,एक दूसरे पे प्यार लुटाते हो,
पवन बगल के उपवन से सुगंध लिए बेपरवाह मचलता हो,
महकती फिज़ाओं में जहाँ फूलों ने सतरंगी रंग बिखरा हो,
हर कलियों संग भौंरा मस्तमौला हो,चल वहीं चलते हैं,
चल ऐ मन कहीं दूर चलते है,
इस शहर से दूर, भीड़ से अलग कहीं,,
जहाँ आसमां धरा से मिलती हो,वहीं चलते हैं,
कुछ ना हो पर, सहज और सरलता का अहसास हो,
बहती जैसी गंगा, पवित्रता का सुखद वास हो,
रेत सा निश्छल ,पाउं की मिटाती थकान हो,
सत्य जहाँ श्रद्धा को प्रेम करे,वहीं एक धाम हो,
कहीं नफ़रत नहीं, बस श्याम बंशी की मधुर तान हो,
बजे चारों और तालियां, संगीत गूँजे हर घड़ी चारों याम हो,
चल ऐ मन ढूंढ ,ऐसी ही अपना एक गॉंव हो,
जहाँ कुछ नहीं, पर पीपल तले ढले अपना शाम हो।
चल ऐ मन कहीं दूर चलते हैं,
जहाँ आसमां धरा से मिलती हो ,वहीं चलते हैं।

https://youtu.be/8wl9E60uVhM

स्वरचित मौलिक
करुणा सिंह कल्पना
रांची झारखंड

https://youtu.be/8wl9E60uVhM

mediapanchayat

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

मनोनीत सभासदों के आरोपों पर यह बोले नौतनवा चेयरमैन गुड्डू खान,,,

Sat Aug 8 , 2020
मीडिया पंचायत न्यूज़ नेटवर्क: महराजगंज जिले का नौतनवा कस्बा दशकों से राजनैतिक हलचल व आरोप-प्रत्यारोप के कारण चर्चा में रहता है। इन दिनों यहां के राजनैतिक गलियारों में सत्तासीन भाजपा के मनोनीत सभासदों का नौतनवा नगर चैयरमैन गुडडू खान व नगरपालिका परिषद के ईओ वीरेंद्र कुमार राव के खिलाफ विकास […]

Breaking News