उर्वरक की बोरी लेकर नेपाल न चला जाए वांटेड विकास दुबे

मीडिया पंचायत न्यूज़ नेटवर्क / महराजगंज

(धर्मेंद्र चौधरी की रिपोर्ट) :

सुरक्षा एजेंसियों द्वारा
भारत-नेपाल सरहद पर मोस्ट वांटेड विकास दुबे के सर्च अभियान के दावे किए जा रहे है। बार्डर किनारे जगह-जगह उसके फोटो चस्पा किए जा रहे हैं। एसएसबी-पुलिस का दावा है कि सभी पगडंडियों पर चुस्त निगेहबानी की जा रही है। लेकिन सुरक्षा एजेंसियों के तमाम दावे जमीनी स्तर पर बिल्कुल विपरीत है। बॉर्डर सील के बावजूद सरहद के पगडंडियों पर आवागमन धड़ल्ले से जारी है।
यह आवागमन आम नागरिकों का नहीं बल्कि तस्करों का है। तस्करी की एक बाढ़ सी आई है।
जिसकी बानगी ठूठीबारी थानाक्षेत्र के लक्ष्मीपुर खुर्द में देखने को मिली है। पूरे गांव में 5000 हजार से भी अधिक तस्करी की मटर की बोरियां बरामद हुई। सीमा सील के दावों के बीच इतनी बड़ी खेप नेपाल से भारत कैसे आ गई? यह बड़ा सवाल है।
सोनौली कोतवाली क्षेत्र के भगवानपुर, श्यामकाट, खनुआ व हरदी डाली गांव में भी तस्करी की बाढ़ सी आ गई है। प्रतिदिन सैकडों बोरी उर्वरक नेपाल जा रही है। वहीं मटर के बोरियों की खेप नेपाल से भारत आ रही है। इसकी निगरानी लेकिन बार्डर पर तैनात एसएसबी, पुलिस व कस्टम विभाग मौन है।
बड़ा सवाल यह है कि तस्करी की इस बेख़ौफगी को हवा क्यों है। तस्करी की इस बाढ़ में वांटेड विकास दुबे उर्वरक की बोरी के साथ कब नेपाल चला जाए? कुछ कहा नहीं जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

नलकूप की जांच करने आए एक्सईएन को ग्रामीणों ने घेरा, नोंकझोंक

Wed Jul 8 , 2020
फोटो- पुरैनिहा गांव में एक्सईएन की गाड़ी घेर बात करते ग्रामीण। मीडिया पंचायत न्यूज़ नेटवर्क (नौतनवा) नौतनवा ब्लाक क्षेत्र के पुरैनिहा गांव में बुधवार को जांच के लिए पहुंचे नलकूप विभाग के एक्सईएन को ग्रामीणों ने घेर लिया। ग्रामीण एक्सईएन की जांच से असंतुष्ट थे। नोंकझोंक भी हुई। हालांकि मामले […]

Breaking News