डाकिया कभी गाँव में आते थे हम सब के डाकिया चाचा, खबर लाते वो अपनों की दुख सुख हो या सपनों की। शीतलहर में वो नहीं रुकते गर्मी में भी वो नहीं थकते, बारिस की झमझम बूंदों में खबर सुनाते पढ़ पढ़ कर। ध्यान से सबकी बातें सुनते अनकही बातों […]

भोजपुरी देवी गीत- माई के पूजाई। हमार पियवा हो करा माई के पुजाई । खुश होई होइहे माई हमरो सहाई। हमार पियवा हो । नहाई धोआई धोती कुर्ता पहिन के। लेई माई के चुनरिया चलब सडिया पहिंन के। जरावा धुपवा हो सब दुखवा भुलाई। हमार पियया हो। माई के चरनिया […]

ख़ास रहा ये जन्मदिन ! ******** रूबी का मानना है कि जन्मदिन 1 दिन का सेलिब्रेशन नहीं है। जब जन्म होता है तो छठी-बारी, नामकरण, कई तरह के उत्सव/संस्कार महीनों तक चलते हैं तो बर्थडे पर कम से कम सप्ताह-भर का सेलिब्रेशन तो बनता है । और इस मायने में […]

मात शारदे! की कृपा ने शब्दों का वरदान दिया प्रेम,पीर,मन मधुर लेखनी ने हमको सम्मान दिया …… आज तिहाड़ जेल के कवि सम्मेलन में जाना हुआ ,बलजीत कौर दीदी, बबिता पांडे जी,और मैंने काव्य पाठ किया.. सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ ही यह कवयित्री सम्मेलन भी रखा गया था! महिला कैदियों […]

सखी वेलफेयर सोसाइटी के गठन मैंने महिलाओं को निशुल्क स्किल बेस्ड ट्रेनिंग देकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए किया था । अभी तीन साल पूरे भी नही हुए और हम एक हज़ार से अधिक लड़कियों को किसी न किसी रूप में लाभान्वित कर चुके है । एवं उत्तर प्रदेश की गवर्नर […]