******* “लुंगी और गमछा में जिस व्यक्ति को आप देख रहे हैं उनका नाम पतायत साहू है।। पतायत जी को इस बार पद्मश्री पुरस्कार मिला है। पतायत जी ओडिशा के कालाहांडी जिले के रहने वाले हैं। इनके गांव का नाम नान्दोल है। पतायत जी अपने घर के पीछे 1.5 एकड़ […]

मेरी माँ कभी सख्त तुम फौलाद की तरह बनी कभी नरम तुम मोम की तरह बनी । सहनशील तुम पृथ्वी की तरह , ममता तुम्हारी सागर की तरह ए माँ । सावली सलोनी तेरी सूरत सादगी की मिसाल बनी ।। कतरा – कतरा विष पिया तुमने सदा , ए माँ […]

साहित्य 24 और प्रेरणा दर्पण साहित्यिक एवं सांस्कृतिक मंच के द्वारा कीर्ति उत्सव का आयोजन विगत वर्षों की तरह इस बार भी बड़े धूम धाम से दिल्ली सहित अन्य राज्यों में भी ऑफलाइन और ऑनलाइन माध्यमों से मनाया जा रहा है।इसी क्रम में कल दिनांक 16 नवंबर को रांची स्थित […]

शाहपुरा, 7 नवंबरसंस्थान के संस्थापक एवं राजस्थान के जाने माने लोककवि श्री मोहन जी मण्डेला की स्मृति में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला देश का प्रतिष्ठित लोककवि श्री मोहन मण्डेला स्मृति सम्मान समारोह एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन इस वर्ष 1 दिसम्बर 2022 गुरुवार को स्थानीय बोर्डिंग हाउस-राउमावि शाहपुरा के मैदान […]

पीयूष गोयल ने दर्पण छवि में हाथ से लिखी १७ पुस्तकें. क्या आपने पहले सुना कोई व्यक्ति सुई से, मेहंदी कोन से, कार्बन पेपर से,कील से,करेक्शन पेन से,लकड़ी के पेन से मैजिक शीट पर किताब लिख सकता हैं तो आप गर्व से कह सकते हैं एक भारतीय ने ये काम […]

पीयूष जी आप अपने बारे में बतायें। : जी मेरा नाम पीयूष कुमार गोयल हैं, मैं माता रवि कांता गोयल व पिता डॉ देवेंद्र कुमार गोयल के यहाँ 10 फरवरी 1967 को दादरी में पैदा हुआ था। मैं एक यांत्रिक इंजीनियर हूँ, करीब 25 साल का विभिन्न कम्पनियो में काम […]

“स्वस्थ हम बेहतर आज और कल” भगतचंद्रा अस्पताल द्वारा 17 अक्टूबर सोमवार को द्वारका में 2058 वे स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया गया इस कैंप में कुल 74 पेशंट शामिल हुए | आज तक कुल 1 लाख, 39 हजार , 283 पेशंट इस निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का लाभ ले चुके […]

“स्वस्थ हम बेहतर आज और कल” भगतचंद्रा अस्पताल द्वारा 16 अक्टूबर शुक्रवार को द्वारका में 2057 वे स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया गया इस कैंप में कुल 72 पेशंट शामिल हुए | आज तक कुल 1 लाख, 39 हजार , 209 पेशंट इस निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का लाभ ले चुके […]

वरिष्ठ साहित्यकार श्री ईश कुमार गंगानिया का आत्‍मवृत “मैं और मेरा गिरेबां” – नई पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत 25 अक्‍तूबर सन 1956 में जन्में ईश कुमार गंगानिया दिल्ली प्रशासन से उप-प्रधानाचार्य के पद से सेवा निवृत्त हैं। आपकी अलग-अलग विधाओं में अब तक दो दर्जन पुस्‍तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। […]

“स्वस्थ हम बेहतर आज और कल” भगतचंद्रा अस्पताल द्वारा 15 अक्टूबर शुक्रवार को द्वारका में 2056 वे स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया गया इस कैंप में कुल 34 पेशंट शामिल हुए | आज तक कुल 1 लाख, 39 हजार , 137 पेशंट इस निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का लाभ ले चुके […]

Breaking News